Chemistry Class 9th Chapter 2 in Hindi | क्या हमारे चारो ओर पदार्थ शुद्ध है ? – Best Science Notes

Chemistry Class 9th Chapter 2 in Hindi :BSEB Class 9th chapter 2 Notes in Hindi: Chemistry CLASS 9th CHAPTER 2 NOTES IN HINDI क्या हमारे चारो ओर पदार्थ शुद्ध है class 9th chapter 2 notes in Hindi NCERT notes class 9th chapter 2 class 9th Chemistry chapter 2 notes in Hindi :Chemistry CLASS 9th CHAPTER 2 NOTES IN HINDI Chemistry class 9th chapter 2 pdf 9th class notes class 9th science notes chapter 2 class 9th Chemistry chapter 2 9th science notes in Hindi

Table of Contents

Chemistry Class 9th Chapter 2 in Hindi

Chemistry Class 9th Chapter 2 in Hindi
Chemistry Class 9th Chapter 2 in Hindi

हम आपके लिए इस chapter क्या हमारे चारो ओर पदार्थ शुद्ध है में कम समय में परिक्षा की तैयारी करने के लिए शाँट नोट्स लाए है। जिनसे आप अपनी परिक्षा की तैयारी कम से कम समय में कर पायेंगे । इस पोस्ट में हमने इस chapter का हरेक point को आसान भाषा में cover कियें है जो आप कभी नहीं भुल पाएंगे

शुद्ध पदार्थ(Pure substance)

वैसा पदार्थ जो एक ही कणिकाओं से मिलकर बना होता है उसे शुद्ध पदार्थ कहते हैं जैसे हाइड्रोजन सल्फर लोहा ऑक्सीजन इत्यादि

Chemistry class 9th chapter 2 in Hindi

अशुद्ध पदार्थ

वैसे पदार्थ जो दो या दो से अधिक प्रकार के कोणों से मिलकर बना होता है उसे अशुद्ध पदार्थ कहते हैं जैसे नल का जल दूध हवा मिट्टी इत्यादि

मिश्रण(Mixture)

वैसा पदार्थ जो दो या दो से अधिक तत्व योगिक किसी भी अनुपात में हो मिश्रण कहलाता है जैसे हवा एक मिश्रण है जिसमें नाइट्रोजन ऑक्सीजन आर्गन कार्बन डाइऑक्साइड जलवाष्प इत्यादि का मिश्रण है

बारूद किन किन पदार्थों का मिश्रण है?

सल्फर पोटेशियम नाइट्रेट कोयला

Chemistry class 9th chapter 2 in Hindi

मिश्रण के प्रकार

समांगी मिश्रण –वह मिश्रण जिसके संपूर्ण भाग में अवयवी पदार्थों का संगठन समान हो उसे समांगी मिश्रण कहते हैं जैसे जल एवं चीनी का मिश्रण

विषमांगी मिश्रण –वह मिश्रण जिसके संपूर्ण भांग में पदार्थों का संगठन एक समान नहीं होता है उसे विषमांगी मिश्रण कहते हैं जैसे जल और बालू का मिश्रण

समांगी एवं विषमांगी मिश्रण में अंतर

समांगी –

  • इसके संपूर्ण भाग में अवयवी पदार्थों का संगठन समान होता है
  • इसमें उपस्थित अवयवों को नहीं देखा जा सकता है
  • यह प्रायः शुद्ध पदार्थ का बना होता है

Chemistry class 9th chapter 2 in Hindi

विषमांगी –

  • इसके संपूर्ण भाग में अवयवी पदार्थों का संगठन एक समान नहीं होता है
  • इसमें उपस्थित अवयवों को देखा जा सकता है
  • यह प्रायः अशुद्ध पदार्थ का बना होता है

विलयन(Solutions)

दो या दो से अधिक पदार्थों के समांगी मिश्रण को विलयन कहते हैं जैसे नमक जल चीनी जल नींबू जल

विलेय

बिलियन में जिसकी मात्रा कम होती है उसे विलेय या घुल कहते हैं

विलायक

विलियन में जिसकी मात्रा अधिक होती है उसे विलायक या घोलक कहते हैं

जलीय विलयन

जिस विलयन में जल रहता है उसे जलीय विलयन कहते हैं जैसे चीनी और जल का विलयन

अजलीय विलयन

जिस विलयन में जल नहीं रहता है उसे अजलीय विलयन कहते हैं 

Chemistry class 9th chapter 2 in Hindi

विलयन का गुण

  • विलयन एक समांगी मिश्रण होता है
  • विलयन के कणों को आंखों से नहीं देखा जा सकता
  • विलयन में प्रकाश का मार्ग दिखाई नहीं देता है
  • विलयन के कण छन्ना पत्र से पार कर जाते हैं
  • विलयन स्थाई होता है

संतृप्त विलयन

वैसा विलयन जिसके विलायक में उसी ताप पर और विलिय घुलाने की क्षमता नहीं होती है उसे संतृप्त विलयन कहते हैं

Chemistry class 9th chapter 2 in Hindi

घुलनशीलता

विलेय पदार्थ की वह मात्रा जो निश्चित ताप पर संतृप्त विलयन में उपस्थित है उसकी घुलनशीलता कहलाती है

घुलनशीलता = विलेय का द्रव्यमान / विलायक का द्रव्यमान

इसका कोई मात्रक नहीं होता है।

असंतृप्त विलयन

ऐसा विलयन जिसकी विलायक में उसके क्षमता से अधिक विलेय को घुला दिया जाता है उसे असंतृप्त विलयन कहते हैं

जिस विलयन में विलेय की मात्रा कम होती है उसे तनु विलयन और जिस विलयन में विलेय की मात्रा अधिक होती है उसे सांद्र विलयन कहते हैं

Chemistry class 9th chapter 2 in Hindi

विलयन की सांद्रता

किसी विलयन की निश्चित मात्रा में घुले हुए विलेय की मात्रा को उस विलयन की सांद्रता कहते हैं

विलयन की सांद्रता = विलेय की मात्रा / विलयन की मात्रा

विलयन के द्रव्यमान प्रतिशत

किसी विलयन के 100 ग्राम में उपस्थित विलेय की द्रव्यमान को उस विलयन का द्रव्यमान प्रतिशत कहते हैं

विलयन का द्रव्यमान % = विलेय पदार्थ का द्रव्यमान(ग्राम में) / विलयन का द्रव्यमान(ग्राम में) X100

विलयन के आयतन प्रतिशत

किसी विलयन के 100 मिली आयतन में उपस्थित विलेय द्रव के आयतन को उस विलयन का आयतन प्रतिशत कहलाता है

विलयन का आयतन%= विलेय पदार्थ का आयतन(मिली में) / विलयन का आयतन(मिली में) X100

Chemistry class 9th chapter 2 in Hindi

निलम्बन

ऐसा विष्मांगी मिश्रण जिसमें ठोस के कण बिना घुले पूरे द्रव में फैले रहते हैं निलम्बन कहलाता है जैसे चौक का चूर्ण एवं जल का मिश्रण गेहूं का आटा

निलम्बन का गुण

  • यह एक विषमांगी मिश्रण है
  • इसके कणों का व्यास 100 मीटर से बड़ा होता है
  • इसके कणों को आंखों से देखा जा सकता है
  • इसके कण प्रकाश की किरण को फैला देता है जिससे उसका मार्ग दिखाई पड़ता है

कोलाइड

किसी माध्यम में छोटे-छोटे कण लटके या तैरते हुए कण को कोलाइड कहते हैं जैसे दूध एक कोलाइड है जिसमें छोटे छोटे वसा के कण तैरते हुए दिखाई पड़ते हैं

Chemistry class 9th chapter 2 in Hindi

टिंडल प्रभाव

जब प्रकाश किसी कोलाइड मिश्रण से गुजरता है तब कोलाइड कणों से प्रकाश का सभी दिशाओं में प्रकीर्णन होता है इस घटना को सर्वप्रथम टिंडल नामक वैज्ञानिक ने दर्शाया जिसे टिंडल का प्रभाव कहते हैं

परिक्षेपण

जब किसी पदार्थ के कणों को किसी दूसरे पदार्थ के कणों के चारों ओर विखरा दिया जाता है परिक्षेपण कहलाता है

Chemistry class 9th chapter 2 in Hindi

कोलाइड के गुण

  • यह एक समांगी मिश्रण है
  • इसके कणों का व्यास 1 नैनोमीटर से 100 नैनोमीटर के बीच होता है
  • इसके कण आंखों से दिखाई नहीं देता है
  • इसके प्रकाश किरण को फैलाते हैं

पृथकरण

मिश्रण के अवयवों को अलग करने की प्रक्रिया पृथकरण कहलाती है

पृथकरण का उपयोग

  • तेल तथा जल के घुलनशील मिश्रण को पृथक करने में
  • पिघला हुआ लोहा एवं धातु मल को पृथक करने में
  • ईथर और जल के मिश्रण को पृथक करने में

Chemistry class 9th chapter 2 in Hindi

पृथकरण कीप

एक विशेष प्रकार की कीप है जिसमें नीचे एक स्टॉपकॉक लगा रहता है जिसका उपयोग द्रव के प्रवाह को रोकने के लिए किया जाता है

Chemistry class 9th chapter 2 in Hindi

अपकेंद्रण का उपयोग

  • दूध से क्रीम निकालने की प्रक्रिया में
  • कपड़ा धोने की मशीन में
  • गीले कपड़े से जलनी निचोड़ने में
  • जांच प्रयोगशाला में रक्त और मूत्र के जांच में
  • दही से मक्खन निकालने में

वर्ण लेखन

रंगों का पृथक्करण जिस विधि के द्वारा किया जाता है उसे वर्ण लेखन कहते हैं

Chemistry class 9th chapter 2 in Hindi

वर्ण लेखन का उपयोग

  • डाई में उपस्थित रंगों को पृथक करने में
  • प्राकृतिक रंगों से पीगमेंट को पृथक करने में
  • रक्त से नशीले पदार्थों को पृथक करने में

आस्वन विधी

दो घुलनशील द्रवों के मिश्रण को पृथक जिस विधि के द्वारा किया जाता है उसे आस्वन विधि कहते हैं

प्रभाजी आस्वन

इसका उपयोग वैसे दो या दो से अधिक घुलनशील द्रवों के मिश्रण को पृथक करने में किया जाता है जिनके क्वथनांकों के बीच 25K के ताप के कम अंतर होता है

प्रभाजी आस्वन के उपयोग

  • पेट्रोलियम पदार्थों की प्रभाजी आस्वन में
  • वायु से गैसों को पृथक करने में
  • एसीटोन अल्कोहल और जल के मिश्रण को पृथक करने में

क्रिस्टलीकरण

अशुद्ध नमूने का सांद्र घोल तैयार कर गर्म शीतलन का प्रक्रम क्रिस्टलीकरण कहलाता है इसका प्रयोग ठोस पदार्थों को शुद्ध करने में किया जाता है तथा समुद्री जल से प्राप्त नमक को शुद्ध करने में किया जाता है

Chemistry class 9th chapter 2 in Hindi

भौतिक परिवर्तन

भौतिक परिवर्तन वह स्थाई परिवर्तन है जिसमें पदार्थ की भौतिक अवस्था आकार और आकृति में परिवर्तन होता है और परिवर्तन के कारण इसके विपरीत करने पर पदार्थ पुनः अपने भौतिक रूप में आ जाता है उसे भौतिक परिवर्तन कहते हैं जैसे बर्फ का पिघलना मोम का पिघलना बादल का बरसना बल्ब का जलना इत्यादि

रासायनिक परिवर्तन

रासायनिक परिवर्तन वह स्थाई परिवर्तन है जिसमें पदार्थों के भौतिक एवं रासायनिक गुण सदा के लिए बदल जाते हैं और परिवर्तन के कारण इसको विपरीत करने पर भी प्राप्त वस्तु से मूल वस्तु प्राप्त नहीं होती है रसायनिक परिवर्तन कहलाता है जैसे कागज का जलना बीज से पौधा बनना पौधों की वृद्धि पेड़ों को काटना भोजन का पचना अलमारी में जंग लगना ।

Chemistry class 9th chapter 2 in Hindi

भौतिक एवं रासायनिक परिवर्तन में अंतर

भौतिक परिवर्तन –

  • इसमें कोई नया पदार्थ नहीं बनता है
  • यह एक अस्थाई परिवर्तन है
  • यह उत्क्रमणीय प्रक्रिया होता है
  • इसमें पदार्थ परिवर्तित नहीं होता है

रासायनिक परिर्वतन –

  • इसमें हमेशा नया पदार्थ बनता है
  • यह एक स्थाई परिवर्तन है
  • यह अनुत्क्रमणीय होता है
  • इसमें पदार्थ परिवर्तित होते हैं

Chemistry class 9th chapter 2 in Hindi

तत्व(Element)

वह पदार्थ जिसे किसी भी भौतिक या रासायनिक विधि द्वारा दो या दो से अधिक सरल पदार्थों में विभाजित नहीं किया जा सके तत्व कहलाता है

धातु(Metal)

वैसा तत्व जो विद्युत एवं उष्मा का सुचालक होता है धातु कहलाता है यह ठोस अवस्था एवं आघातवर्धनीय होता है जैसे सोना चांदी लोहा तांबा इत्यादि

द्यातु के गुण

  • यह चमकीला होता है
  • यह विद्युत का सुचालक होता है
  • यह प्रायः कठोर होता है
  • यह आघातवर्धनीय तथा तन्य होता है

Chemistry class 9th chapter 2 in Hindi

अद्यातु

ऐसा तत्व जो विद्युत एवं ऊष्मा का कुचालक होता है अधातु कहलाता है यह अघातवर्ध्य और तन्य नहीं होता है जैसे हाइड्रोजन ऑक्सीजन आयोडीन इत्यादि

अधातु के गुण

  • यह विद्युत का कुचालक होता है
  • यह विभिन्न रंगों की होती है
  • आघातवर्धनीय एवं तन्य नहीं होती है

उपद्यातु

वैसा तत्व जिसमें धातु तथा अधातु दोनों के गुण पाए जाते हैं उसे उपधातु कहते हैं जैसे बोराँन सिलिकॉन जर्मीनियम इत्यादि

Chemistry class 9th chapter 2 in Hindi

धातु तथा अधातु में अंतर

धातु –

  • यह चमकदार होती है
  • धातुएं अघातवर्ध्य तथा तन्य होती है
  • यह विद्युत एवं ऊष्मा के सुचालक होते हैं
  • यह ठोस होती है
  • धातुओं के गलनांक एवं क्वथनांक उच्च होते हैं

अद्यातु –

  • यह चमकदार नहीं होता है
  • यह आघातवर्धनीय एवं तन्य नहीं होता है
  • यह ऊष्मा एवं विद्युत के कुचालक होते हैं
  • अधातु ठोस एवं गैस दोनों होती है
  • इसकी गलनांक एवं क्वथनांक निम्न होता है

Chemistry class 9th chapter 2 in Hindi

यौगिक(Compound)

दो या दो से अधिक तत्व एक नियत अनुपात में बनता है उसे यौगिक कहते हैं जैसे जल एक योगिक है यह हाइड्रोजन और ऑक्सीजन के 1:8 के संयोग से बनता है

तत्व एवं यौगिक में अंतर

तत्व –

  • यह एक ही परमाणु से बना होता है
  • तत्व परमाणुओं का बड़ा संग्रह है
  • तत्व का सक्ष्तम कण परमाणु कहलाता है
  • यह दो या दो से अधिक पदार्थो के किसी भी अनुपात में मिलने से बनता है

यौगिक –

  • दो या दो से अधिक तत्व से बना होता है
  • यौगिक अणुओं  का वृहद संग्रह नहीं है
  • यौगिक का सुक्ष्म कण अणु कहलाता है
  • दो या दो से अधिक तत्व एक नियत अनुपात में बनता है

Chemistry class 9th chapter 2 in Hindi

मिश्रण तथा यौगिक में अंतर

मिश्रण –

  • मिश्रण का बनना भौतिक परिवर्तन है
  • मिश्रण समांगी और विषमांगी हो सकता है
  • मिश्रण का कोई निश्चित सूत्र नहीं होता है
  • मिश्रण के बनने में उष्मा परिवर्तन आवश्यक नहीं है
  • मिश्रण के नियमों को सरल विधियों द्वारा अलग किया जा सकता है

Chemistry class 9th chapter 2 in Hindi

यौगिक –

  • इसका बनना रासायनिक परिवर्तन है
  • यौगिक हमेशा समांगी होता है
  • इसका निश्चित सूत्र होता है
  •  यौगिक के अवयवों को रासायनिक विधियों द्वारा अलग किया जा सकता है

Also Read

Chemistry class 9th chapter 1 in Hindi

Leave a Comment