Biology class 9th chapter 5 Notes in Hindi | खाध संसाधनों में सुधार (Improvements in Food resources) Best science notes

Biology class 9th chapter 5 Notes in Hindi: खाध संसाधनों में सुधार(Improvements in Food resources) पादप तथा जन्तु स्रोतो से प्राप्त किये गये विभिन्न पदार्थो का मिला जुला रूप जिसे खाने से शरीर का निर्माण तथा विकास होता है और बीमारियों से सुरक्षा मिलती है भोजन कहलाता है |

class 9th chapter 5 notes in Hindi NCERT notes class 9th chapter 5 class 9th Biology chapter 5 notes in Hindi : Biology class 9th chapter 5 pdf 9th class notes class 9th science notes chapter 5 class 9th Biology chapter 5 9th science notes in Hindi

Biology class 9th chapter 5 Notes in Hindi

Biology class 9th chapter 5 Notes in Hindi
Biology class 9th chapter 5 Notes in Hindi

हम आपके लिए इस chapter खाध संसाधनों में सुधार(Improvements in Food resources) में कम समय में परिक्षा की तैयारी करने के लिए शाँट नोट्स लाए है। जिनसे आप अपनी परिक्षा की तैयारी कम से कम समय में कर पायेंगे । इस पोस्ट में हमने इस chapter का हरेक point को आसान भाषा में cover कियें है जो आप कभी नहीं भुल पाएंगे

भोजन(food)

पादप तथा जन्तु स्रोतो से प्राप्त किये गये विभिन्न पदार्थो का मिला जुला रूप जिसे खाने से शरीर का निर्माण तथा विकास होता है और बीमारियों से सुरक्षा मिलती है भोजन कहलाता है। भोजन में तीन प्रकार के पदार्थ पाए जाते हैं 

Biology class 9th chapter 5 Notes in Hindi

  • शरीर निर्माता – प्रोटीन और खनीज
  •  ऊर्जा दायक – कार्बोहाइड्रेट तथा वसा
  • विनियंत्रक – विटामिन

              फसल                            होता है

  • गेहूं धान मक्का बाजरा ज्वार→  कार्बोहाइड्रेट
  • चना मटर उड़द मूँग अरहर मसूर→   प्रोटीन
  • सोयाबीन मूँगफली तिल सरसो अलसी→ वसा वसीय अम्ल
  • सब्जियाँ मसाले तथा फल→  विटामिन तथा खनीज अम्ल
  • बरसीम जई सुडान घास ( चारा फसल )→ पशु भोजन

Biology class 9th chapter 5 Notes in Hindi

हरित क्रांति(Green Revolution)

इस क्राति को फसलों के वृद्धि के लिए लाया गया जिसमे फसलों कि उत्पादन में वृद्धि हुई इस क्रांति को सर्वप्रथम M.S स्वामीनाथन ने शुरू किया था

श्वेत क्राति(White Revolution)

देश में अच्छे नस्लों की गायों तथ भैसों को लाया गया जिससे दुध उत्पादन में काफी वृद्धि हुई इसे ही श्वेत क्रांति कहा जाता है।

Biology class 9th chapter 5 Notes in Hindi

रजत क्रांति(Silver Revolution)

देश में अच्छे नस्लों की मुर्गियों की पालन हुई जिससे अंडों की उत्पादन में वृद्धि हुई जिसे रजत क्रांति कहा जाता है।

सम्पोषणीय कृषि

कृषि का ऐसा प्रारूप तैयार किया गया जिसमें प्राकृतिक पर्यावरण को क्षति ना होने एवं आवश्यकता अनुसार पर्याप्त भोजन की भी उत्पन्न किया जा सके इसे संपोषणीय कृषि कहते हैं

कार्बनिक खेती(organic Cropping)

ऐसी प्रक्रिया जिसके अंतर्गत बिना किसी रासायनिक पदार्थ का उपयोग किए जैविक उर्वरको द्वारा खेती करना कार्बनिक खेती कहलाता है

Biology class 9th chapter 5 Notes in Hindi

दिप्तीकालीता

वे दशाएं जो सूर्य के प्रकाश की अवधि से संबंधित होती है दीप्तिकालीता कहलाती है 

रबी फसल

वह फसलें जो प्रायः नवंबर से अप्रैल माह के बीच उगाई जाती है रबी फसल कहलाती है जैसे गेहूं चना मटर सरसों तथा अलसी इत्यादि

खरीफ फसल

वे फसले जो प्रायः ग्रीष्मकाल से लेकर वर्षाकाल तक अर्थात जून माह से आरंभ होकर अक्टूबर माह के बीच उगाई जाती है खरीफ फसल कहलाता है जैसे धान अरहर मक्का सोयाबीन मूंग इत्यादि

पोषक प्रबन्धन

ऐसे पदार्थ जो पौधों की वृद्धि विकास तथा उनके उच्च उत्पादन के लिए आवश्यक होते हैं पोषक पदार्थ कहलाता है फैसलों से उच्च उत्पादन प्राप्त करने के लिए मृदा में समुचित मात्रा में पोषक पदार्थों की उपलब्धता को सुनिश्चित करना पोषक प्रबंधन कहलाता है

Biology class 9th chapter 5 Notes in Hindi

पोषक तत्व के प्रकार

वृहत् पोषक तत्व – जिन पोषक तत्व की आवश्यकता पौधों को अधिक मात्रा में पढ़ती है उन्हें वृहत पोषक तत्व कहते हैं जैसे नाइट्रोजन फास्फोरस पोटैशियम कैल्शियम मैग्नीशियम सल्फर इत्यादि

सक्ष्म पोषक तत्व – जिन पोषक तत्वों की आवश्यकता पौधों को कम मात्रा में पढ़ती है उन्हें सूक्ष्म पोषक तत्व कहते हैं जैसे लोहा मैग्नीज जिंक कॉपर तांबा क्लोरीन इत्यादि

खाद्य(Manure)

जैविक अपशिष्ट जैसे कृषि अपशिष्ट एवं पशुओं के उत्सर्जी पदार्थों के जैविक अपघटन से प्राप्त हुए पदार्थ जो पौधों की वृद्धि तथा उनके समुचित विकास के लिए उपयोगी होती है खाद्य कहलाता है

खाद तथा उर्वरक में अंतर

खाद –

  • यह मिट्टी की उर्वरा शक्ति को बढ़ाती है
  • एक मिट्टी की संरचना में सुधार करती है
  • इसमें पोषक पदार्थ कम होते हैं
  • धीरे-धीरे पौधों में अवशोषित होती रहती है

Biology class 9th chapter 5 Notes in Hindi

उर्वरक –

  • यह मिट्टी की उर्वरा शक्ति को अस्थाई रूप से बढ़ाती है
  • यह मिट्टी की मौलिक संरचना में परिवर्तन लाती है
  • इसमें उर्वरक बहुत तेजी से अवशोषित हो जाती है

खाद्य से लाभ

  • यह मिट्टी की संरचना को सुधारती है
  • यह मिट्टी की जल धारण क्षमता को ठीक रखती है
  • यह जल के निकास में सहायक होती है

खाद्य के प्रकार

कम्पोस्ट –

कंपोस्ट एक प्राकृतिक खाद है जो पशुओं के उत्सर्जित पदार्थों घरेलू तथा कृषि अपशिष्ट अपघटनशील कुड़ा कचरा आदि को विशेष रूप से बनाए गए गढ्ढों में वायवीय एवं अवायवीय में जैविक अपघटन के फल स्वरुप तैयार की जाती है

हरि खाद्य

खेत में उगाए गए सनई ढ़ैचा अथवा ग्वार के पौधों को खेत में ही सड़ा देने से जो प्राकृतिक खाद्य बनती है उसे हरी खाद्य कहते हैं |

Biology class 9th chapter 5 Notes in Hindi

संश्लेषित रासायनिक उर्वरक या उर्वरक

वे रासायनिक उर्वरक जिनका उत्पादन रासायनिक संश्लेषण की विधियों द्वारा कारखानों में किया जाता है संश्लेषित रासायनिक उर्वरक कहलाता है जैसे यूरिया डी॰ एस॰ पी॰ इत्यादि

सिंचाई(Irrigation)

पौधों अथवा फसलों को उनकी उचित वृद्धि तथा विकास के लिए जल प्रदान करना सिंचाई कहलाता है सिंचाई करने के लिए की गई व्यवस्था और उसके अंतर्गत प्रयोग किए जाने वाले सिंचाई के साधनों को सम्मिलित रूप से सिंचाई कहा जाता है

फसल पैटर्न

फसलों को उगाने का एक निश्चित कर्म होता है जिसे फसल पैटर्न कहते हैं

Biology class 9th chapter 5 Notes in Hindi

फसल चक्र

किसी खेत में फसलों को एक निश्चित क्रम में बदल बदलकर उगाना फसल चक्र कहलाता है

फसल चक्र अपनाने का लाभ

  • इससे भूमि की उर्वरक शक्ति बढ़ती है
  • फसल चक्र अपनाने से अलग से उर्वरक देने की आवश्यकता कम पड़ती है
  • इससे मिट्टी की संरचना में सुधार होती है और उसमें कार्बनिक पदार्थों की मात्रा बढ़ती है

मिश्रित फसल

कई प्रकार की फसलों को एक साथ मिलाकर बोना मिश्रित फसल कहलाता है

फसल सुरक्षा प्रबंधन

फसलो को विभिन्न कारणों से होने वाले क्षति को रोकने के लिए संसाधनों एवं तकनीकों की समुचित व्यवस्था करना फसल सुरक्षा प्रबंधन कहलाता है

Biology class 9th chapter 5 Notes in Hindi

खर पतवार

वे अवांछित पौधे जो हमारी फसलो में अपने आप उग जाती है एवं उन्हें हानियाँ पहुंचाती है खर पतवार कहलाता है। जैसे गोखुर गाजर घास मोथा पारथेनियम इत्यादि

भंडारण

भंडारण एक ऐसी प्रक्रिया होती है जिसमें खाद्य पदार्थों को सुरक्षित रखा जाता है जिससे वह खराब और साथ ही साथ उसे कोई हानि नहीं पहुंच सके

Biology class 9th chapter 5 Notes in Hindi

पशु पालन

भोजन उत्पादन एवं विभिन्न उदेश्यों की पुर्ति के लिए मनुष्य द्वारा पशुओं की सुव्यवस्थित और सुनियोजित देखभाल किया जाना एवं उनके सफलतापूर्वक प्रजन्न की व्यवस्था किया जान ही पशुपालन कहलाता है।

Biology class 9th chapter 5 Notes in Hindi

एक्वा कल्चर

छोटे या बड़े तालाब एवं झीलों में जलीय जंतु को पालना तथा उनसे प्रजनन की क्रिया कराना एक्वाकल्चर कहलाता है

मत्स्य पालन(Pisciculture)

ऐसी प्रक्रिया जिसके अंतर्गत मछली को भोजन के लिए पालना तथा उनका प्रजनन कराना और उनके अंडों का स्फुटन कराना मत्स्य पालन कहलाता है

Biology class 9th chapter 5 Notes in Hindi

मधुमक्खी पालन(Bee Keeping)

ऐसी प्रक्रिया जिसके अंतर्गत मक्खियों को पालना उनसे शहद तथा मोम निकालना और व्यापारिक रूप से उसका इस्तेमाल करके पूँजी का लाभ लेना मधुमक्खी पालन कहलाता है

Biology class 9th chapter 5 Notes in Hindi

गायें कि नस्लें

भारत में गायों की 32 और भैसों की 7 नस्लें पाई जाती है भारत में मुख्यतः गायों की 3 देशज जातियाँ पाई जाती है लाल सिंधी साहीवाल तथा गिर इत्यादि

भैसों की प्रमुख नस्ल

भदावरी जेफराबादी सुरती तथा मेहसाना इत्यादि |

Also Read:

Biology class 9th chapter 1 Notes in Hindi

Biology class 9th chapter 2 Notes in Hindi

Biology class 9th chapter 3 Notes in Hindi

Biology Class 9th Chapter 4 Notes in Hindi

Leave a Comment