Biology Class 9th Chapter 4 Notes in Hindi | हम बिमार क्यों होते हैं? (Why we do fall ill) Best Notes

Biology Class 9th Chapter 4 Notes in Hindi: हम बिमार क्यों होते हैं? (Why we do fall ill) किसी व्यक्ति की शारीरिक मानसिक मनोवैज्ञानिक और सामाजिक जीवन्तता तथा जिसके कारण वह जीवन के हर क्षेत्र में कुशलता पूर्वक अपने कार्य का निष्पादन करता है स्वास्थ्य कहलाता है |

class 9th chapter 4 notes in Hindi NCERT notes class 9th chapter 4 class 9th Biology chapter 4 notes in Hindi  Biology class 9th chapter 4 pdf 9th class notes class 9th science notes chapter 4 class 9th Biology chapter 4 9th science notes in Hindi

Table of Contents

Biology Class 9th Chapter 4 Notes in Hindi

Biology Class 9th Chapter 4 Notes in Hindi
Biology Class 9th Chapter 4 Notes in Hindi

हम आपके लिए इस chapter हम बिमार क्यों होते हैं? (Why we do fall ill) में कम समय में परिक्षा की तैयारी करने के लिए शाँट नोट्स लाए है। जिनसे आप अपनी परिक्षा की तैयारी कम से कम समय में कर पायेंगे । इस पोस्ट में हमने इस chapter का हरेक point को आसान भाषा में cover कियें है जो आप कभी नहीं भुल पाएंगे |

स्वास्थय(health)

किसी व्यक्ति की शारीरिक मानसिक मनोवैज्ञानिक और सामाजिक जीवन्तता तथा जिसके कारण वह जीवन के हर क्षेत्र में कुशलता पूर्वक अपने कार्य का निष्पादन करता है स्वास्थ्य कहलाता है

Biology Class 9th Chapter 4 Notes in Hindi

सामुदायिक स्वास्थय के लिए शर्ते

  • अच्छे पानी की सुविधा
  • अपने आसपास कूड़े कचरे को जमा होने से रोकना
  • हरे भरे पेड़ पौधों को लगाना
  • अच्छे हवा का आना

संतुलित आहार(Balanced diet)

वह भोजन जिसमें शरीर की रचना विकास तथा कार्य कुशलता के लिए आवश्यक सभी पोषक तत्व उचित अनुपात में पाए जाते हैं संतुलित आहार कहलाता है

Biology Class 9th Chapter 4 Notes in Hindi

बिमारी(Diseases)

बीमारी वह शारीरिक और मानसिक दशा है जिसके कारण शरीर और मस्तिष्क ठीक तरह से कार्य नहीं कर पाते हैं और थोड़ा धीरे-धीरे या अचानक कार्य करना बंद कर देता है बीमारी कहलाता है

संक्रमक बिमारी(Infectious diseases)

वे बीमारियां जो किसी बीमार व्यक्ति से किसी स्वस्थ व्यक्ति तक फैलती है संक्रामक बीमारी कहलाती है जैसे मलेरिया टीबी टाइफाइड ऐड्स डेंगू कालाजार फाइलेरिया रोग डायरिया हैजा रेबीज इत्यादि

Biology Class 9th Chapter 4 Notes in Hindi

अल्पता बिमारी

वे बीमारियां जो किसी पोषक पदार्थ की शरीर में कमी हो जाने से उत्पन्न होती है अल्पता बीमारी कहलाती है जैसे घेंघा एनिमिया इत्यादि

अंगों की कुसंक्रियाता से होने वाली बीमारी

किसी व्यक्ति के किसी अंग का खराब होना या उस अंग का ठीक से कार्य नहीं करना अंगों की कुसंक्रियता से होने वाली बीमारी कहलाती है जैसे मधुमेह इत्यादि

Biology Class 9th Chapter 4 Notes in Hindi

प्रतिजैविक का प्रभाव मनुष्य पर नहीं पड़ता है क्यों?

किसी भी व्यक्ति की कोशिकाएं कोशिका भित्ति नहीं बनाती है जिसके कारण वायरस में जैव रासायनिक मार्ग नहीं होता है जिससे प्रतिजैविक वायरस को नष्ट नहीं कर पाता है

प्रतिक्रिया बिमारी या एलर्जी (Allergy)

वह बीमारी जो किसी हानिरहित पदार्थ के शरीर के अंदर प्रवेश करने अथवा शरीर के संपर्क में आने से शरीर की प्रतिरक्षा तंत्र द्वारा प्रतिक्रिया के रूप में उत्पन्न की जाती है एलर्जी कहलाती है

संक्रामक रोग

ऐसे रोग जो सुक्ष्म जीवों द्वारा उत्पन्न किए जाते हैं और स्वास्थ्य व्यक्तियों के शरीर में पहुंचकर संक्रमण उत्पन्न करते हैं संक्रामक रोग कहलाता है

संक्रामक रोग के उपाय

  • रोग के प्रभाव को खत्म करना
  • रोग के कारण को समाप्त कर देना

Biology Class 9th Chapter 4 Notes in Hindi

संक्रमित होने का नुकसान

  • एक बार संक्रमित हो जाने के बाद शरीर बहुत कमजोर हो जाता है और कार्य करना बंद कर देता है
  • इसके इलाज में बहुत अधिक समय लगता है
  • इस प्रकार के व्यक्ति संक्रमित होने के बाद संक्रमण का स्रोत बन जाते हैं

असंक्रामक रोग

ऐसा रोग जो पीड़ित व्यक्ति से स्वस्थ व्यक्ति में नहीं पहुंच पाता है असंक्रामक रोग कहलाता है जैसे उच्च रक्तचाप मोटापा इत्यादि

वायरस से होनेवाला सामान्य रोग

खांसी जुकाम इनफ्लुएंजा डेंगू बुखार एड्स वायरस से होने वाले रोग हैं 

जीवाणुओं से होने वाला रोग

टाइफाइड बुखार हैजा क्षयरोग या टीवी एंथ्रेक्स मुहासे इत्यादि जीवाणु द्वारा उत्पन्न होते हैं

  • बैरी मार्शल तथा रोबिन वारेन जीवाणु हेलिकोबैक्टर पाइलोरी को नष्ट करने के लिए प्रतिजैविक बनाया था जो अमाशयिक वण के कारक होता है।

Biology Class 9th Chapter 4 Notes in Hindi

कवको या फंजाई से होने वाला रोग

विभिन्न प्रकार के त्वचा रोग डर्मेटाइटिस दाद तथा भोजन विवक्तन कवकों द्वारा उत्पन्न किये जाने वाले रोग है।

प्रोटोजोआ या प्रजीवों से होने वाले रोग

मलेरिया पेचिश कालाजार निद्रा रोग आदि प्रोटोजोआ द्वारा उत्पन्न किए जाने वाले प्रमुख रोग है मलेरिया नामक रोग प्लाज्मोडियम द्वारा पेचिश एंटअमीबा द्वारा कालाजार लेश्मानिया द्वारा एवं निद्रा रोग ट्रिपलोसोमा द्वारा उत्पन्न किए जाते हैं

कृमियों से होने वाले रोग

गोल कृमि जैसे एस्केरिस लुंब्रिकॉयडिस हुकवर्म तथा पिनवर्म फीताकृमि फील पांव उत्पन्न करने वाले कृमि रोगकारक है

Biology Class 9th Chapter 4 Notes in Hindi

प्रतिजैविक(Antibiotics)

सूक्ष्म जीवों द्वारा संश्लेषित किया गया वह रसायनिक पदार्थ जिसकी क्रिया से दूसरे सूक्ष्मजीवों की मृत्यु हो जाती है प्रतिजैविक कहलाता है जैसे पेनिसिलिन टेट्रासाइक्लिन स्ट्रेप्टोमाइसीन इत्यादि

रोगों के फैलने के माध्यम

मनुष्य के शरीर में रोग निम्नलिखित विधियों द्वारा फैलता है जैसे वायु द्वारा जल द्वारा लैंगिक क्रियाओं द्वारा रोग वाहकों द्वारा इत्यादि

Biology Class 9th Chapter 4 Notes in Hindi

टीकाकरण(Vaccination)

शरीर की प्रतिरक्षा शक्ति को बढ़ाने की पद्धति जिसके अंतर्गत जीवित अथवा मृत रोग कारक जीवाणु से युक्त पदार्थ को किसी व्यक्ति के शरीर के अंदर पहुंचा दिया जाता है टीकाकरण कहलाता है

शिशु मृत्युदर

किसी वर्ष में जीवित पैदा होने वाले 1 वर्ष से कम आयु के प्रति एक हजार बच्चे में मरने वालों बच्चों की संख्या को शिशु मृत्यु दर कहते हैं

Full form of AIDS 

Acquired immuno deficiency Syndrome

Full form of HIV

 Human Immuno virus 

Full form of STD 

Sexually transmitted diseases

Also Read

Biology class 9th chapter 1 Notes in Hindi

Biology class 9th chapter 2 Notes in Hindi 

Biology class 9th chapter 3 Notes in Hindi

Leave a Comment